डॉ. सूर्यबाला की कहानियों का वैशिष्ट्य

नीरजा सिंह

Abstract


समकालीन कथाकारा व व्यंग्य लेखिका डॉ सूर्यबाला जी साहित्य के क्षेत्र में अपनी विशिष्ट सांस्कृतिक पहचान और अस्मिता रखती है। इनके अब तक- एक इंद्रधनुष जुबैदा के नाम , दिशाहीन 'थाली भर चाँद' ' मुंडेर पर' , 'गृह प्रवेश', 'साँझबाती' 'कात्यायिनी संवाद' , 'इक्कीस कहानियां' , 'पांच लम्बी कहानियां' , 'एक टुकड़ा कस्तूरी' इत्यादि कहानी संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं | उनका कथा संसार इतना व्यापक है, उसकी इतनी दशाएं और दिशाएं है,  पात्रों को लेकर इतनी विविधता है कि जीवन का शायद ही कोई  क्षेत्र उनसे अछूता रह पाया है | उनकी संवेदना बच्चो, किशोरों, छात्रों, मजदूरों, स्त्रियों के साथ-साथ पुरुषो, वृद्धजनों व पशु-जगत तक भी व्याप्त है |

 


Full Text:

PDF

Refbacks

  • There are currently no refbacks.


Publisher

EduPedia Publications Pvt Ltd, D/351, Prem Nanar-3, Suleman Nagar, Kirari, Nagloi, New Delhi PIN-Code 110086, India Through Phone Call us now: +919958037887 or +919557022047

All published Articles are Open Access at https://edupediapublications.org/journals/


Paper submission: editor@edupediapublications.com or edupediapublications@gmail.com

Editor-in-Chief       editor@edupediapublications.com

Mobile:                  +919557022047 & +919958037887

Websites   https://edupediapublications.org/journals/.

Journals Maintained and Hosted by

EduPedia Publications (P) Ltd in Association with Other Institutional Partners

http://edupediapublications.org/

Pen2Print and IJR are registered trademark of the Edupedia Publications Pvt Ltd.